उद्धव गीता

#उद्धव बचपन से ही #सारथी के रूप में #श्रीकृष्ण की सेवा में रहे, किन्तु उन्होंने श्री कृष्ण से कभी न तो कोई इच्छा जताई और न ही कोई #वरदान माँगा।
जब कृष्ण अपने #अवतार काल को पूर्ण कर #गौलोक जाने को तत्पर हुए, तब उन्होंने उद्धव को अपने पास बुलाया और कहा-
"प्रिय उद्धव मेरे इस 'अवतार काल' में अनेक लोगों ने मुझसे वरदान प्राप्त किए, किन्तु तुमने कभी कुछ नहीं माँगा! अब कुछ माँगो, मैं तुम्हें देना चाहता हूँ।
तुम्हारा भला करके, मुझे भी संतुष्टि होगी।
उद्धव ने इसके बाद भी स्वयं के लिए कुछ नहीं माँगा। वे तो केवल उन शंकाओं का समाधान चाहते थे जो उनके मन में कृष्ण की शिक्षाओं, और उनके कृतित्व को, देखकर उठ रही थीं।

ज्योतिष शास्त्र, कर्तव्य शास्त्र और व्यवहार शास्त्र

एक बार एक राजा ने विद्वान ज्योतिषियों और ज्योतिष प्रेमियों की सभा बुलाकर प्रश्न किया कि "मेरी जन्म पत्रिका के अनुसार मेरा राजा बनने का योग था मैं राजा बना , किन्तु उसी घड़ी मुहूर्त में अनेक जातकों ने जन्म
लिया होगा जो राजा नहीं  बन सके क्यों ? इसका क्या कारण है ?

कृष्णा का दोस्त

एक बच्चा फटे पुराने जूतों के साथ प्लास्टिक की गेंद से खेल रहा था, मुझे बहुत दुःख हुआ, मैंने बाज़ार से नया जूता ख़रीदा और उसे देते हुए कहा "बेटा लो, ये जूता पहन लो". लड़के ने फ़ौरन जूते निकाले और पहन

Hard Work

Ant and Grosshopper - Indian Version of story - too good and fact

must read...

'ईश्वर कहाँ रहता है?

अकबर ने बीरबल के सामने अचानक 3 प्रश्न उछाल दिये। प्रश्न थे- 'ईश्वर कहाँ रहता है?
वह कैसे मिलता है
और वह करता क्या है?''

प्यास

एक किस्सा है। एक बार किसी रेलवे प्लैटफॉर्म पर जब गाड़ी रुकी तो एक लड़का पानी बेचता हुआ निकला। 
ट्रेन में बैठे एक सेठ ने उसे आवाज दी, ऐ लड़के, इधर आ। लड़का दौड़कर आया। उसने पानी का गिलास भरकर सेठ की ओर बढ़ाया तो

Learning to Live without Recognition is a Skill

There was a farmer who had a horse and a goat…..
One day, the horse became ill and he called the veterinarian,

Forgiveness is a Gift to Ourselves

A teacher once told each of her students to bring a clear plastic bag and a sack of potatoes to school. For every person they refuse to forgive in their life’s experience, they chose a potato, wrote on it the name and date, and put it in the plastic bag.

Why Me

Arthur Ashe,the legendary Wimbledon Tennis player was dying of AIDS
which was due to infected blood he received during a heart surgery in 1983.
From world over,he received letters, from his fans,one of which Reads

"Why does GOD have to select you for such a deadly disease?"
Arthur Ashe replied

God Laughed & said Okay

I asked God to keep you Happy....!

He said ok only for 4 Days.......!!!!
ok,Summer,Winter,Autum and Spring Days....!!!!

He said - no,only for 3 Days......!!!
I said ok,Yestrday,Today n Tomorow....!!!

He said-no only for 2 Days.....!!
I said Day & Night..........!!

He said -no,only 1 Day....!
I said ok, Everyday.......!

God laughed & said okay..!!!!!!!!!!!!!!!!!

Do you Have Time....

Once upon a time a very strong woodcutter ask for a job in a timber merchant, and he got it. The paid was really good and so were the work conditions. For that reason, the woodcutter was determined to do his best.

His boss gave him an axe and showed him the area where he was supposed to work.

Popular Posts